केन्द्र सरकार छत्तीसगढ़ से 24 लाख मीट्रिक टन चावल लेना जारी रखेगा

रायपुर : छत्तीसगढ़ केन्द्र से 24 लाख मीट्रिक टन चावल खरीदना चालू करेगा। पिछले साल की तरह इस साल भी सेंट्रल पूल में चावल की खरीदी की जाएगी। बताया गया है कि प्रदेश सरकार द्वारा केन्द्र द्वारा निर्धारित समर्थन मूल्य में धान खरीदे जाने के बाद ही केन्द्र चावल का उठाव करने के लिए तैयार हुआ है।

वहीं छत्तीसगढ़ सरकार अभी भी केन्द्र से 32 लाख मीट्रिक टन चावल सेंट्रल पूल में खरीदने की मांग कर रही है। दरअसल छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा प्रति क्विंटल 25 सौ रुपए की दर से धान खरीदने की घोषणा के बाद केन्द्र ने एमओयू की शर्तों के तहत प्रदेश से चावल लेने के मना कर दिया था। इससे सरकार के सामने बड़ा संकट खड़ा हो गया था। और केन्द्र की मनाही के बाद प्रदेश सरकार,केन्द्र द्वारा निर्धारित 1815 और 1835 रुपए प्रति क्विंटल की दर से ही धान खरीद रहा है।

भले ही प्रदेश सरकार ने किसानों को अंतर की राशि बाद में देने का वादा किया है, लेकिन इससे राज्य सरकार बचत के धान को लेकर चिंतित है। क्योंकि इस साल सरकार ने 15 फरवरी तक लगभग 85 लाख मीट्रिक टन धान खरीदी का लक्ष्य रखा है। सरकार राज्य के पीडीएस सिस्टम में उपयोग होने वाले चावल के बाद शेष को सेंट्रल पूल में खरीदने की मांग कर रहा है। बताया गया है कि खाद्य सचिव डॉ. कमलप्रीत सिंह ने केन्द्रीय सचिव को पत्र लिखकर चावल लेने का आग्रह किया था। इसके जवाब में केन्द्रीय खाद्य विभाग का पत्र आया है। जिसमें उल्लेखित किया गया है कि वर्ष-2019-20 के लिए 24 लाख मीट्रिक टन चावल छत्तीसगढ़ सरकार से लेगी।

32 लाख टन पर भी बन जाएगी सहमति 
केन्द्र सरकार ने 24 लाख मीट्रिक टन चावल लेने की सहमति प्रदान कर दी है, लेकिन हम चाहते हैं कि केन्द्र हमारा 32 लाख मीट्रिक टन चावल खरीदे। इस संबंध में हम लगातार प्रयास करते रहेेंगे और उम्मीद है कि इस पर भी केन्द्र की सहमति बन जाएगी। – अमरजीत भगत, खाद्यमंत्री, छत्तीसगढ़ शासन