निकाय चुनाव 2019: स्ट्रांग रूम के बाहर तंबू गाड़ पहरेदारी पर बैठे भाजपाई, कहा-सरकार पर भरोसा नहीं

दंतेवाड़ा (एजेंसी) | नगरीय निकाय चुनाव की वोटिंग के बाद जीत-हार के दावों के बीच कई जिलों में भाजपा कार्यकर्ता स्ट्रांग रूम की पहरेदारी में जुट गए हैं। सुरक्षा बलों के साथ ही भाजपाई खुद तंबू गाड़कर, रजाई-गद्दे लेकर चौबीस घंटे डटे हुए हैं। भाजपाइयों का कहना है कि उन्हें कांग्रेस सरकार पर भरोसा नहीं है, बैलेट पेपर और मतपेटी से छेड़खानी की जा सकती है। प्रशासन ने स्ट्रांग रूम के बाहर सीसीटीवी कैमरे भी लगाए हैं।

फिर भी आशंकित भाजपाई पारी बांधकर 24 घंटों निगरानी में जुटे हैं।दंतेवाड़ा के गीदम में भाजपा ने स्ट्रांग रूम की सुरक्षा पर भी सवाल उठाए हैं। जिलाध्यक्ष चैतराम अटामी ने कहा कि ईवीएम से वोटिंग में पारदर्शिता रही है। ईवीएम पर कांग्रेस को भरोसा नहीं, हमें बैलेट पेपर के मतदान पर भरोसा नहीं है। अटामी बोले कि स्ट्रांग रूम के बाहर सिर्फ 4 जवान तैनात हैं।

जबकि पहले के चुनावों में दर्जनों सुरक्षाकर्मियों का पहरा रहता रहा है। नगर पंचायत अध्यक्ष अभिलाष तिवारी ने आरोप लगाया कि कुछ कांग्रेसी बात कर रहे थे कि हमारी सरकार है, हम मतपेटी तक बदल सकते हैं।  इसी से हम लगातार निगरानी पर बैठे हैं। गीदम के तंबू में भाजपा कार्यकर्ता राजा गुप्ता, संतोष गुप्ता, मल्लिकार्जुन राव, अमित गुप्ता, पप्पू गुप्ता, वैभव गुप्ता, पूरन सोनी सहित भाजपाई मौजूद थे।