निकाय चुनाव 2019: सांसद सरोज पांडेय के रोड शो में हंगामा, समर्थकों में हुई जमकर मारपीट

दुर्ग (एजेंसी) | भाजपा की राष्ट्रीय महामंत्री और सांसद सरोज पांडेय के रोड शो में बुधवार को जमकर हंगामा हो गया। भाजपा के पार्षद प्रत्याशी संजय सिंह और निर्दलीय उम्मीदवार अरुण सिंह के समर्थक आमने-सामने हो गए। विवाद के दौरान दोनों ओर से समर्थक इतने उत्तेजित हो गए कि गालीगलौच और मारपीट तक बात पहुंच गई।

हंगामा बढ़ता देख किसी ने पुलिस को सूचना दे दी। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और किसी तरह मामला शांत कराया। वहीं भाजपा प्रत्याशी की ओर से मामले की शिकायत थाने में दी गई है। दरअसल, नगर निकाय चुनाव को लेकर सांसद सरोज पांडेय बुधवार को निगम के सभी 60 वार्डों में भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में प्रचार करने के लिए निकली थीं। खुली गाड़ी में सवार सांसद का रोड शो जब वार्ड 21 तितुरडीह पहुंचा तो उसमें वहां से भाजपा प्रत्याशी संजय सिंह भी शामिल हो गए।

सड़क पर आमने-सामने हुए तो पहले निकलने को लेकर शुरू हुआ विवाद

अभी उनकी गाड़ी तितुरडीह रोड पर आगे बढ़ी ही थी कि सामने से निर्दलीय प्रत्याशी अरुण सिंह जुलूस लेकर पहुंच गए। इसके बाद सड़क से हटने को लेकर दोेनों ओर से विवाद शुरू हो गया। दोनों के समर्थक अपनी जीत को लेकर काफी उत्साहित नजर आए। नारेबाज़ी करते हुए दोनों में तकरार बढ़ गई। दोनों पक्षों में धक्का-मुक्की शुरू हो गई।

सरोज की रैली के सामने आते ही निर्दलीय प्रत्याशी अरुण सिंह के समर्थक बैनर उठाकर हवा में लहराने लगे। इसके बाद दोनों तरफ के समर्थक इतने आक्रोशित हो गए कि बात मारपीट तक पहुंच गई। बीच सड़क पर मारपीट होते देख हंगामा मच गया। आसपास भी भगदड़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई। इस दौरान पुलिस मौके पर पहुंची और स्थिति को संभाला।

भाजपा ने निवर्तमान पार्षद अरुण सिंह का टिकट काटकर संजय सिंह को दिया
वार्ड नंबर 21 से निवर्तमाना पार्षद अरुण सिंह भाजपा से थे, लेकिन इस बार उनका टिकट काटकर संजय सिंह को दे दिया गया है। अरुण सिंह ने टिकट काटने का आरोप भी भाजपा के राष्ट्रीय नेतृत्व पर लगाया था। उन्होंने कहा था कि पूरा दुर्ग केंद्र शासित हो गया है और पार्टी में सिर्फ एक की ही चल रही है।  उसकी चापलूसी करने पर ही टिकट और पद का आशीर्वाद प्राप्त होता है।  टिकट काटने से अरुण सिंह बागी हो गए और चुनावी मैदान में निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में उतर आए।