जशपुर: सरकारी स्कूल में छात्राओं से हुई अभद्रता मामले में शिक्षा विभाग ने शिक्षक को किया सस्पेंड, पुलिस ने किया गिरफ्तार

जशपुरनगर: छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले के दो सरकारी स्कूल में छात्राओं से हुई अभद्रता मामले में शिक्षा विभाग ने तुमला के गंझियाडीह स्थित शासकीय उमा विद्यालय और दुलदुला विकासखंड के हायर सेकेंड्री स्कूल के शिक्षकों को सस्पेंड कर दिया है। गंझियाडीह विद्यालय में पदस्थ व्याख्याता पंचायत राजेश कुमार भारद्वाज सहित एक छात्र को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी शिक्षक नंबर बढ़वाने के नाम पर छात्राओं से शारीरिक संबंध बनाने की मांग करता और छात्रों से रुपए और मुर्गे की दावत मांगता। वहीं, दुलदुला के स्कूल शिक्षक ने 10वीं की छात्राओं को प्रपोज किया था।

केस के बाद शिक्षक हो गया था फरार, साथ देने में छात्र भी पकड़ाया

गंझियाडीह में स्थित शासकीय उमा विद्यालय में पदस्थ शिक्षक राजेश कुमार भारद्वाज और डोंगादरहा निवासी छात्र मनोज यादव को छात्राओं को प्रताड़ित करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। शिकायत व खबर प्रकाशन के बाद से ही आरोपी शिक्षक फरार हो गया था। पुलिस ने बताया कि शिक्षक राजेश भारद्वाज सहित एक स्टूडेंट मनोज यादव पिता माधव यादव 18 साल निवासी डोंगादरहा को भी गिरफ्तार किया है। आरोपी छात्र को शिक्षक के इस काम में सहयोग करने के मामले में गिरफ्तार किया गया है।

कक्षा में नई आई छात्रा ने विरोध किया तो अन्य छात्राओं का बढ़ा हौसला

स्कूल की छात्राओं ने शिक्षक पर आरोप लगाया था कि वह अनैतिक संबंध बनाने के लिए दबाव डालते थे। साथ ही परीक्षा में पास करने के बदले में मुर्गा, पैसे की मांग करते और स्कूल परिसर में ही गाली गलौज किया करते थे। पुलिस की जांच में यह बात सामने आई कि मनोज यादव से शिक्षक छात्राओं के पास संबंध बनाने का संदेश भिजवाता था। इसके बाद कक्षा में शिक्षक कहते थे कि मनोज यादव जो कह रहा है, उसकी बात को मान लो। मामले में इसी वर्ष कक्षा में आई छात्रा ने इसका विरोध करने निर्णय लिया।

प्राचार्य को भी उदासीनता बरतने के कारण हटाया गया

इसके चलते अन्य छात्राओं को भी हौंसला मिला। इसके बाद मामले को स्कूल व स्थानीय स्तर पर दबाने में लगे थे, लेकिन छात्राओं ने उन्हें समस्या बताई। मामला तूल पकड़ा तो जांच के बाद जिला पंचायत सीईओ ने व्याख्याता पंचायत को तत्काल निलंबित कर दिया, वहीं पुलिस ने मामले में एफआईआर दर्ज करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया गया। डीईओ एन कुजूर ने शाला प्रभारी प्राचार्य राम साय को स्कूल प्रबंधन एवं दायित्व में उदासीनता बरतने के कारण पद से हटा दिया है

दुलदुला इलाके में छात्राओं से आपत्तिजनक बातें करता था शिक्षक

दूसरे मामले में दुलदुला के हायर सेकेंड्री स्कूल के शिक्षक कुबेर चरण बड़ाईक पर कार्रवाई की गई है। आरोपी शिक्षक ने कुछ दिन पहले दो छात्राओं को रास्ते में रोककर प्रपोज किया था। इसके बाद छात्राओं ने इसकी शिकायत कलेक्टर से की थी। छात्राओं का आरोप है कि शिक्षक कुबेर अक्सर शराब के नशे में धुत होकर क्लास रूम में आते हैं और पढ़ाने के बजाय अनर्गल बातें करते रहते हैं। जिला शिक्षा अधिकारी एन कुजूर ने बताया कि शिकायत पर मामले की जांच कर रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को भेजी गई थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *