नागरिकता संशोधन कानून के विरोध के दौरान भड़की हिंसा पर प्रधानमंत्री मोदी की रामलीला मैदान से विपक्ष को जमकर लताड़

modi-on-caa-2019

दिल्ली। २२ दिसंबर 2019 प्रधानमंत्री मोदी ने रामलीला मैदान से विपक्ष को नागरिकता संशोधन कानून पर भड़की देशव्यापी हिंसा और भ्रम फ़ैलाने का जिम्मेदार बताते हुए, जमकर लताड़ लगाई। गौरतलब है प्रधानमंत्री मोदी रामलीला मैदान पर दिल्ली भाजपा द्वारा आयोजित धन्यवाद रैली को संबोधित करने आयें थे | ये रैली दिल्ली शहर में तमाम अवैध कॉलोनी को नियमित करने की उपलब्धि पे हुयी थी, कुल चालीस लाख से ज्यादा लोगो को इसका सीधा फायदा मिल रहा है.

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत भारत सरकार द्वारा संचालित योजनाओं जैसे उज्वला गैस सिलिंडर योजना, आयुष्मान योजना  आदि की उपलब्धि बता कर किया। उन्होंने जोर देते हुए कहा की केंद्र द्वारा संचालित सभी योजनाओं में जाति-धर्म इत्यादि का भेद भाव नहीं किया गया है, सबको एक समान इन योजनाओं का लाभ मिला है.

प्रधानमंत्री मोदी ने आज़ादी से लेकर अब तक शहीद हुए ३३,००० पुलिस जवानो को श्रद्धांजलि भी अर्पित की और उन्हें सलाम करते हुए याद किया, कुछ शरारती तत्वों द्वारा भड़काई हुई हिंसा से घायल हुए पुलिस कर्मियों पर खूब रोष जताया। उन्होंने दो टूक कहा अगर विरोध ही करना है तो “मेरा यानी मोदी का पुतला खड़ा करके उसे जलाओ, गरीबो के घर और सरकारी संपत्ति को नुकसान क्यों पंहुचा रहे हो.

प्रधानमंत्री मोदी ने CAA (नागरिकता संशोधन बिल) को विस्तार पूर्वक समझाया की “कोई भी भारत का नागरिक चाहे को भी धर्म से तालुक रखता हो उसको इस बिल से कोई लेना देना नहीं है, इस बिल का मकसद है पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफ़ग़ानिस्तान से आये हुए शरणार्थियों को नागरिकता प्रदान करना है, जो धार्मिक भेदभाव के कारण अपने मुल्क में उत्पीड़ित है और लम्बे समय से भारत देश में शरणार्थी के तौर पर रह रहे है.

उन्होंने शरणार्थी एवं घुसपैठिये का फर्क भी समझाया  की जो शरणार्थी है वो खुद ही प्रशासन से मदद मांगता है, अपनी आप बीती बताता है. जो घुसपैठिया है वो अपनी पहचान छुपता है और चोरी छुपे निवास करता है. प्रधानमंत्री मोदी जी ने युवाओ और भ्रमित लोगो से अपील की है वो हिंसा छोड़े और CAA (नागरिकता संशोधन बिल) 2019 को अच्छे से पढ़े ये नागरिकता लेने का नहीं देने का कानून है.

वीडियो देखे  – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रामलीला मैदान धन्यवाद रैली