छत्तीसगढ़ : रायपुर में राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव 27 से, राहुल गांधी होंगे मुख्य अतिथि

रायपुर | तीन दिवसीय राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव शुक्रवार से शुरू हो रहा है। इसमें मुख्य अतिथि के रूप में सांसद राहुल गांधी शामिल होंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्यमंत्री भूपेश बघेल करेंगे। महोत्सव का शुभारंभ सुबह 10 बजे साइंस कॉलेज मैदान में होगा। छत्तीसगढ़ में पहली बार यह अंतरराष्ट्रीय महोत्सव का रूप ले रहा है। इसमें देश के 25 राज्य एवं केन्द्रशासित प्रदेशों के साथ ही 6 देशों के लगभग 1350 से अधिक प्रतिभागी अपनी जनजातीय कला संस्कृति का प्रदर्शन करेंगे।

महोत्सव के शुभारंभ अवसर पर अति विशिष्ट अतिथि के रूप में राज्य सभा में नेता प्रतिपक्ष श्री गुलाम नबी आजाद, उप नेता श्री आनंद शर्मा, राज्यसभा सांसद श्री अहमद पटेल और श्री मोतीलाल वोरा, पूर्व सांसद श्री के.सी. वेणुगोपाल, श्रीमती प्रियंका गांधी वाड्रा, पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुश्री मीरा कुमार, छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. चरण दास महंत, सांसद श्री पी.एल. पुनिया, श्री बी.के. हरिप्रसाद, श्री रणदीप सिंह सुरजेवाला, श्री चंदन यादव, पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री कांतिलाल भूरिया और श्री भक्त चरणदास शामिल होंगे।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव, श्री ताम्रध्वज साहू, श्री रविन्द्र चौबे, डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, श्री मोहम्मद अकबर, श्री कवासी लखमा, डॉ. शिवकुमार डहरिया, श्रीमती अनिला भेंड़िया, श्री जयसिंह अग्रवाल, श्री गुरू रूद्र कुमार, श्री उमेश पटेल, श्री अमरजीत भगत। सांसद श्रीमती छाया वर्मा, श्रीमती ज्योत्सना महंत, श्री दीपक बैज, विधायक श्री मोहन मरकाम, श्री सत्यनारायण शर्मा, श्री धनेन्द्र साहू, श्री कुलदीप जुनेजा, श्री विकास उपाध्याय, जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती शारदा वर्मा और रायपुर नगर निगम के महापौर श्री प्रमोद दुबे होंगे।

प्रियंका गाँधी, मध्यप्रदेश के सीएम कमलनाथ को भी न्योता

27 दिसंबर से राजधानी में शुरू हो रहे तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव की तैयारियां जोरों पर है। इस कार्यक्रम के उद्घाटन समारोह में कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा शामिल हो सकते हैं। अंतिम कार्यक्रम नहीं आया है दोनों सुबह करीब साढ़े दस बजे रायपुर आएंगे और करीब दो घंटे कार्यक्रम में शामिल रहेंगे। प्रियंका यह पहला रायपुर दौरा होगा।

 

उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ में पहली बार राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। यह महोत्सव अब अंतर्राष्ट्रीय महोत्सव का रूप ले लिया है। तीन दिवसीय इस नृत्य महोत्सव में देश के 25 राज्य एवं केन्द्रशासित प्रदेशों के साथ ही 6 देशों के लगभग 1350 से अधिक प्रतिभागी अपनी जनजातीय कला संस्कृति का प्रदर्शन करेंगे। इस महोत्सव में 39 जनजातीय प्रतिभागी दल 4 विभिन्न विधाओं में 43 से अधिक नृत्य शैलियों का प्रदर्शन करेंगे।