रमन :राहुल गांधी में अध्ययन की कमी, सावरकर के साथ नाम जोड़ना अपराध

रायपुर | बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह ने कहा कि राहुल गांधी सबसे पुरानी पार्टी के अध्यक्ष बनना चाहते हैं, लेकिन उन्हें देश का इतिहास ही नहीं पता। इस वजह से ही उनका मजाक उड़ाया जाता है। राहुल के बयान पर पूर्व सीएम ने कहा कि इससे उनकी मानसिकता का पता चलता है। अध्ययन की कमी है। सावरकर के साथ नाम जोड़ना ही अपराध है। पूर्व सीएम ने छत्तीसगढ़ में नागरिकता संशोधन बिल लागू नहीं करने के मामले में सीएम भूपेश बघेल पर संघीय ढांचे के खिलाफ होने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि नागरिकता राज्य का नहीं, बल्कि केंद्र का विषय है। संविधान में केंद्र व राज्य के लिए विषय तय किए गए हैं। इसके बावजूद सीएम कभी सीबीआई पर बैन लगाने की बात करते हैं, कभी एनआईए और कभी आर्थिक नाकेबंदी करने की बात कहते हैं। एक सवाल के जवाब में रमन ने कहा कि किस बंदर के हाथ में उस्तरा है, ये लोग बेहतर समझ रहे हैं।

देश के नागरिकों को कोई परेशानी नहीं : डॉ. रमन ने कहा कि नागरिकता संशोधन बिल में देश के किसी भी नागरिक को डरने या घबराने की बात नहीं है। यह नागरिकता देने का कानून है, नागरिकता खत्म करने का कानून नहीं है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने घुसपैठिए और शरणार्थी को स्पष्ट कर दिया है। जो राजनीतिक षड्यंत्र के लिए भारत में रह रहे हैं, वे घुसपैठिए हैं। जो परेशान हैं, अत्याचार हो रहा है। इसलिए शरण में आए हैं, वे शरणार्थी हैं। यह कानून शरणार्थियों के लिए है। पाकिस्तान में 20 फीसदी अल्पसंख्यक थे, जो अब 2 फीसदी रह गए हैं।

इतने सालों में कांग्रेस ने कुछ नहीं किया: पूर्व सीएम ने कहा कि जवाहरलाल नेहरू और लियाकत अली के बीच 1950 में समझौता हुआ था। इसे दिल्ली समझौता कहा जाता है। इसके अंतर्गत अल्पसंख्यकों की संपत्ति, आवास और धर्मस्थलों की सुरक्षा करनी थी। पाकिस्तान ने समझौते का पालन नहीं किया, इसलिए वहां 2 फीसदी अल्पसंख्यक रह गए हैं। कांग्रेस ने भी इतने सालों में कुछ नहीं किया, इसलिए भाजपा यह बिल लेकर आई है। इसमें चोरी-छिपे जैसी कोई बात नहीं है, क्योंकि यह चुनावी घोषणा पत्र का हिस्सा है, जिसे अमल में लाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *